गुजरात के मुख्य धार्मिक तीर्थ स्थल – Gujarat

By | November 2, 2020

गुजरात के मुख्य धार्मिक तीर्थ स्थल – नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप सभी ? मै एक बार फिर से आप सभी का स्वागत करता हूं आपके अपने आर्टिकल पर।  दोस्तों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से गुजरात के प्रमुख धार्मिक स्थानों के बारे में बताएंगे ।

 दोस्तों अगर आपको भी कभी गुजरात जाने का मौका मिले तो आप इन प्रमुख धार्मिक स्थलों पर जरूर जाएं।  यहां आपको एक अलग ही आनंद का अनुभव होगा ,इन सभी स्थानों के बारे में जानने के लिए आर्टिकल को पूरा आखिरी तक पढ़िए ।

दोस्तों गुजरात भारत के एक प्राचीन राज्यों में से एक है।  गुजरात राज्य में आपको भारतीय संस्कृति की एक अलग ही झलक देखने को मिलेगी । इसी वजह से गुजरात राज्य पूरे विश्व में प्रसिद्ध है।  गुजरात राज्य धार्मिक संस्कृति से भी जुड़ा हुआ है । 

यहां पर आपको हिंदू संस्कृति के कई ऐसे प्राचीन मंदिर देखने को मिल जाएंगे जो इतिहास के पन्नों में अपनी एक अलग छाप छोड़ते हैं । इन मंदिरों में प्रतिवर्ष लाखों श्रद्धालुओं देश और दुनिया के कोने-कोने से आते हैं । दोस्तों इन्ही कुछ प्रमुख धार्मिक स्थलों के बारे में आपको नीचे बताया गया है । गुजरात के मुख्य धार्मिक तीर्थ स्थल

सोमनाथ मंदिर

दोस्तों भगवान शिव की प्रमुख 12 ज्योतिर्लिंग में से 1 ज्योतिर्लिंग गुजरात के सोमनाथ मंदिर में स्थित है।  यह मंदिर भगवान शिव का एक बहुत ही प्राचीन मंदिर है । इस मंदिर को लेकर कई पौराणिक कथाएं भी हैं।  पुराणों में ऐसा बताया गया है कि इसी मंदिर में चंद्र देव को उनके श्राप से मुक्ति मिली थी जो उन्हें उनके ससुर दक्ष प्रजापति ने दिया था  इस श्राप से उन्हें भगवान सोमनाथ ने मुक्त कराया था।  

दोस्तों यह मंदिर ऐतिहासिक इसलिए भी है क्योंकि यहां पर महमूद गजनवी ने 17 बार आक्रमण किया था और इस मंदिर को लूटा था फिर भी इस मंदिर की सुंदरता और भव्यता कम नहीं हुई ।यह मंदिर मुख्य रूप से भगवान शिव से संबंधित है। गुजरात के मुख्य धार्मिक तीर्थ स्थल

द्वारिकाधीश मंदिर

अगर भगवान श्री कृष्ण के मंदिरों की बात आती है तो सबसे पहले हमारे दिमाग में द्वारकाधीश मंदिर का ख्याल आता है। यह भगवान श्री कृष्ण का एक बहुत ही भव्य और प्राचीन मंदिर है ।दोस्तों अगर बात हम इस मंदिर के इतिहास की करें तो यह मंदिर लगभग 2000 से 2200 वर्ष पुराना है । 

इस मंदिर में मुख्य रूप से भगवान श्री कृष्ण की पूजा अर्चना की जाती है । मान्यता ऐसी है कि इस मंदिर का निर्माण भगवान श्री कृष्ण के नाती जिनका नाम वज्रभ था ।  यहां देश और दुनिया से लाखों श्रद्धालु आते हैं विदेशों में भी इस मंदिर की एक अलग पहचान है।

अक्षरधाम मंदिर

गुजरात के मुख्य धार्मिक तीर्थ स्थल दोस्तों अक्षरधाम मंदिर मुख्य दिल्ली में बना हुआ है पर इसी की एक बिल्कुल हूबहू कॉपी गुजरात में भी है । गुजरात में आने वाले सभी श्रद्धालुओं के लिए यह मंदिर एक आकर्षक का केंद्र है।  यह मंदिर गुजरात के गांधीनगर में स्थित है।  यहां पर विदेशों से भी कई पर्यटक घूमने आते हैं । 

नागेश्वर मंदिर

जैसा कि आपको इस के नाम से ही पता चल रहा होगा कि यह मंदिर भगवान शिव से संबंधित है।  यह भगवान शिव की प्रमुख 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है।  इस मंदिर में भगवान की प्रतिमा सबको आकर्षित करती है यह प्रतिमा 25 मीटर ऊंची है यही इस मंदिर का मुख्य आकर्षण का केंद्र भी है । यहां पर पहुंचने वाले सभी श्रद्धालुओं को एक असीम सुख और शांति महसूस होती है।

महाकाली मंदिर

दोस्तों जय मंदिर मां काली के प्रमुख सिद्ध पीठों में से एक है । यह मंदिर गुजरात में पहाड़ियों के ऊपर लगभग 15 से 25 फीट पर बना हुआ है । यहां पर मां काली की पूजा मुख्य रूप से की जाती है। दोस्तों इस मंदिर को लेकर कई पौराणिक कथाएं भी हैं । ऐसा कहा जाता है कि इसी मंदिर पर माता रानी का बक्ष स्थल कट कर गिर गया था।

भालका तीर्थ

यह मंदिर भी भगवान श्री कृष्ण का एक प्रमुख मंदिर है। दोस्तों इस मंदिर को लेकर कई पौराणिक मान्यता है । ऐसा माना जाता है कि भगवान श्रीकृष्ण ने अपने प्राणों का त्याग इसी मंदिर में किया था।  

पुराणों में वर्णन है कि एक बार गलती से एक बहेलिया का तीर भगवान श्री कृष्ण के पैर में लग गया था जिससे उनकी मृत्यु हो गई उन्होंने अपने प्राण इसी मंदिर में त्यागे थे । यह मंदिर सोमनाथ मंदिर से 5 किलोमीटर दूर स्थित है । यहां पर भी देश और दुनिया से कई श्रद्धालु आते हैं।

इंडिया की 5 सबसे प्रसिद्ध और ऊंची इमारतों

 निष्कर्ष

दोस्तों यह आपके लिए एक छोटी सी जानकारी थी । जिसमें आज हमने आपको गुजरात के प्रमुख धार्मिक स्थानों के बारे में बताया । हमें उम्मीद है कि यह जानकारी आपको पसंद आई होगी । इसी तरह की अन्य जानकारी पाने के लिए आप हमारे साथ बने रहिए बहुत-बहुत धन्यवाद