उत्तराखंड के प्रमुख मंदिर जहां पर आप को घूमने एवं दर्शन करने के लिए एक बार जरूर जाना चाहिए

By | September 20, 2020

उत्तराखंड के प्रमुख मंदिर जहां पर आप को घूमने एवं दर्शन करने के लिए एक बार जरूर जाना चाहिए  – नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप सभी?  मैं एक बार फिर से आप सभी का स्वागत करता हूं हमारे इस बिल्कुल नए आर्टिकल पर । दोस्तों आज हम आपके लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण विषय में जानकारी लेकर आए हैं अगर आप पर्यटन के शौकीन हैं और आपको नए-नए जगह में घूमने का शौक है तो आज का आर्टिकल विशेष रूप से आपके लिए ही है । आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से उत्तराखंड के प्रमुख मंदिरों के बारे में बताएंगे ।

 उत्तराखंड तो आप सभी ने सुना होगा । पहले यह उत्तर प्रदेश का ही एक अंग था जिसे अब अलग कर दिया गया और उत्तराखंड नाम दे दिया गया।  यह एक बहुत ही धार्मिक स्थान है । यहां पर हर साल देश के कोने-कोने से लाखों लोग जाते हैं । उत्तराखंड में बहुत सारे मंदिर है जो पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है ।  उत्तराखंड के प्रमुख मंदिर

अगर आप भी उत्तराखंड में जाने का मन बना रहे हैं तो आज हम आपको 10 ऐसे उत्तराखंड के प्रमुख मंदिर बताएंगे जिन पर आप जरूर जाएं । दोस्तों हमें पूरी उम्मीद है कि यह मंदिर आपको पसंद आएंगे और आप अपनी उत्तराखंड यात्रा के दौरान इन मंदिरों के दर्शन जरूर करेंगे । 

बद्रीनाथ मंदिर

दोस्तों बद्रीनाथ मंदिर के बारे में तो आपने जरूर सुना होगा यह हिंदुओं का एक प्रमुख तीर्थ स्थान है । हिंदुओं के प्रमुख चार धामों में से एक धाम बद्रीनाथ भी है । यह समुद्र तल से 3132 मीटर ऊंचाई पर बना एक भगवान विष्णु का मंदिर है । यहां पर भगवान विष्णु के रूप में बद्री नारायण भगवान की पूजा की जाती है।

अगर आप बद्रीनाथ पहुंचना चाहते हैं तो उसके लिए आप रेल मार्ग सड़क मार्ग हवाई मार्ग किसी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं । हवाई मार्ग से जाने के लिए आपको हेलीकॉप्टर की एजेंसी में संपर्क करना पड़ेगा । अगर आप सड़क मार्ग का प्रयोग करके बद्रीनाथ जाना चाहते हैं तो आपको पहले ऋषिकेश पहुंचना होगा ऋषिकेश से  7 किलोमीटर दूर बद्रीनाथ है । अगर आप रेल मार्ग से जाना चाहते हैं तो उसके लिए भी आपको ऋषिकेश स्टेशन पर उतरना होगा 

केदारनाथ मंदिर

दोस्तों केदारनाथ मंदिर भी भगवान महादेव का एक बहुत पवित्र तीर्थ स्थान है । यह केदारनाथ मंदिर उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में मंदाकिनी नदी के तट पर बना हुआ है । भारत में बने सभी प्राचीन मंदिरों में से केदारनाथ मंदिर भी एक है।  दोस्तों भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में से 1 ज्योतिर्लिंग केदारनाथ में स्थित है।  देश के कोने-कोने से लाखों श्रद्धालु प्रतिवर्ष यहां पहुंचते हैं।  वर्ष के केवल 6 महीने ही इस मंदिर के कपाट खुले रहते हैं।

गंगोत्री मंदिर

हिंदुओं के प्रमुख चार धामों में से एक धाम गंगोत्री भी है जो उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में स्थित है । यह उत्तरकाशी से 100 किलोमीटर दूर बना हिंदुओं का एक पवित्र तीर्थ स्थान है।  दोस्तों ऐसा मान्यता है कि मां गंगा का उद्गम यहीं से हुआ है । यह समुद्र तट से 3100 मीटर ऊंचाई पर बना एक प्राचीन मंदिर है। उत्तराखंड के प्रमुख मंदिर

यमुनोत्री मंदिर

दोस्तों अगर आप चार धाम की यात्रा की शुरुआत करते हैं तो आपके शुरुआत इसी यमुनोत्री मंदिर से ही होगी।  यह भी हिंदुओं के चार धामों में से एक है । यह मंदिर उत्तराखंड के प्रमुख मंदिरों में से एक प्राचीन मंदिर है । यह समुद्र तट से 3235 मीटर ऊंचाई पर स्थित है।

धारा देवी मंदिर

धारा देवी मंदिर मां काली से संबंधित एक बहुत प्राचीन मंदिर है । दोस्तों इस मंदिर को लेकर अलग-अलग मान्यताएं है,  बहुत से लोगों का मानना है कि यह मंदिर में मां काली की जो मुख्य मूर्ति है वह 1 दिन में कम से कम 3 बार अपना रूप बदलती है । यह मंदिर अलकनंदा नदी के तट पर बना है जो कि श्रीनगर में है ।  जब आप बद्रीनाथ से केदारनाथ धाम जाएंगे तब रास्ते में आपको यह मंदिर मिलेगा।

तुंगनाथ मंदिर

दोस्तों तुंगनाथ मंदिर भी भगवान शिव के बने सभी मंदिरों में से एक है।  तुंगनाथ मंदिर समुद्र तट से 3680 मीटर ऊपर स्थित 1000 साल पुराना शिव मंदिर है । दोस्तों यह मंदिर उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में बना हुआ है । यहां पर वर्ष भर श्रद्धालुओं का आना जाना लगा रहता है।

रुद्रनाथ मंदिर

दोस्तों रुद्रनाथ मंदिर भी हिंदुओं के एक प्रमुख धार्मिक स्थान है । दोस्तों उत्तराखंड में स्थित पंच केदार में से एक केदार रुद्रनाथ मंदिर है।  इस मंदिर को लेकर कई पौराणिक मान्यताएं भी हैं । इस मंदिर में भगवान शिव के सिर की पूजा अर्चना की जाती है।

कार्तिक स्वामी मंदिर

उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित कनक चोरी गांव में बना कार्तिक स्वामी मंदिर समुद्र तल से 3048 किलोमीटर की ऊंचाई पर बना है । दोस्तों पर्यटन की दृष्टि से इस मंदिर का बहुत महत्व है।  यह भगवान कार्तिक का एकमात्र मंदिर है। 

बिनसर महादेव

बिनसर महादेव भगवान शिव का एक प्राचीन मंदिर है । यह मंदिर रानीखेत से 20 किलोमीटर दूर स्थित है । इसकी समुद्र तल से ऊंचाई 2480 मीटर है । यह मंदिर भगवान शिव को पूरी तरह समर्पित है।  इस मंदिर में भगवान शिव की मुख्य रूप से पूजा अर्चना की जाती है । इस मंदिर के अगल-बगल भयंकर जंगल है।

मनसा देवी मंदिर

दोस्तों मनसा माता की विचित्र मूर्ति वाला यह मंदिर हरिद्वार के एक शहर में स्थित है।  इस मंदिर में मनसा माता की मूर्ति के 5 भुजाएं तथा तीन सर है । ऐसा माना जाता है कि इस मंदिर में जो भी अपनी मनोकामना लेकर आता है उसकी मनोकामना जरूर पूर्ण होती है।

Read Also :- दुनिया के 5 ऐसे देश जहां 24 घंटे चमकता रहता है सूरज नहीं होती है रात जानिए पूरी जानकारी

 निष्कर्ष

दोस्तों आज आपके लिए एक छोटी सी जानकारी थी जिसने आज हमने आपको उत्तराखंड के प्रमुख मंदिरों के बारे में बताया । हमें उम्मीद है कि यह जानकारी आपको पसंद आई होगी । इसी तरह की अन्य जानकारी पाने के लिए आप हमारे साथ हम बने रहिए ।