5 Best BackPacking Places in Kerla – केरल की 5 सबसे अच्छी बैकपैकिंग जगहें

By | June 25, 2021

केरल की 5 सबसे अच्छी बैकपैकिंग जगहें (5 Best BackPacking Places in Kerla) – दक्षिण भारतीय राज्य केरल में पर्यटन के लिहाज से ऐसे कई सारी जगह हैं जहां पर आप अपनी छुट्टियां बिता सकते हैं और केरल की खूबसूरत वादियों का आनंद ले सकते हैं यदि आपको हाउसबोट में रहने का मन है तो यहां पर हाउसबोट की सुविधा उपलब्ध है केरल राज्य में पानी के झरने लगभग 10 करोड़ से भी अधिक परसों को अपनी और आकर्षित करते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि केरल में आज भी आयुर्वेद को महत्व दिया जाता है। यहाँ पर आयुर्वेद में उझिचिल और पिझिचिल उपचार काफी चर्चित हैं। 

आज के समय में अर्थराइटिस की बीमारी से ग्रसित बहुत सारे लोग इलाज कराने के लिए अस्पतालों में भागते हैं लेकिन केरल में आज भी अर्थराइटिस का उपचार आयुर्वेद के जरिए किया जाता है। इतना ही नहीं ऐसे बहुत सारे गंभीर रोग हैं जिनका उपचार आयुर्वेद के जरिए किया जाता है। केरल के पहाड़ी जंगलों में कई सारी जड़ी बूटियां पाई जाती हैं। इसमें अश्वगंधा, आमलकी, कटफल, ब्राह्मी, यष्टिमधु और शंख पुष्पम जैसी औषधीय जड़ी बूटियां प्रमुख हैं।

यदि आप केरल राज्य में पर्यटन करने का प्लान बना रहे हैं तो हम आपको इस आर्टिकल में केरल के 5 बेहतरीन जगहों की जानकारी देने जा रहे हैं, जहां पर आप विजिट करके अपने पर्यटन को सफल बना सकते हैं।

  1. अलेप्पी:

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि केरल राज्य में स्थित अलेप्पी को पूर्व का वेनिस भी कहा जाता है। अलेप्पी में ठहरने की सुविधा बहुत अच्छी है। लेकिन यदि आप यहाँ आए हैं तो किसी होटल में ठहरने के बजाय हाउसबोट में ठहरने का प्लान बनाएं। अलेप्पी में बहुत सारी सकरी सड़के हैं, जहां से गुजरने के लिए आप कैनोई ले सकते हैं। यहां के हाउसबोट में लंच डिनर और रात भर रोशनी की सुविधा उपलब्ध है। यहां की शराब भी बहुत फेमस है और साथ ही साथ यदि आप मसालेदार भोजन करना पसंद करते हैं यहां से मसालेदार खाने का आनंद जरूर लें।

  1. मुन्नार:

यदि आप केरल के मुन्नार में जाना चाहते हैं तो यहां पहुंचने के लिए आपको कोच्चि से 6 घंटे समय लगते हैं इसके अलावा यदि आप अर्नाकुलम से मुन्नार पहुंचना चाहते हैं तो बस की सुविधा उपलब्ध है। मुन्नार में आप फैक्ट्री, ट्रैकिंग, कैंपिंग और एडवेंचर का आनंद उठा सकते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मुन्नार शहर मुश्किल और आसान ट्रेकिंग के लिए भी मशहूर है।

यदि आप फोटोग्राफी के शौकीन हैं तो कोच्चि से मुन्नार के रास्ते में आपको ऐसी कई जगह दिखेंगी जिन्हें आप अपने कैमरे में कैद कर सकते हैं। आपको बता दें कि केरल वन विभाग द्वारा मीसापुलिमाला ट्रैकिंग का भी आयोजन किया जाता है। 

  1. थेक्कड़ी:

कोच्चि से थेक्कड़ी की दूरी 165 किलोमीटर है। यदि आप खुद के वाहन से हैं तो 4 घंटे का पेरियार वन्यजीव अभयारण्य का रास्ता आपको अलग अनुभव प्रदान करा सकता है। यदि आप बोटिंग करना पसंद करते हैं तो पेरियार झील में बोटिंग करने की सुविधा भी उपलब्ध है। इतना ही नहीं आप थेक्कड़ी के जंगलों में आप हाथी की सवारी कर सकते हैं। यहाँ शाम के समय केरल मार्शल आर्ट शो होता है जिसे देखने के लिए भारी भीड़ उमड़ती है।

प्रयागराज (इलाहाबाद) में घूमने लायक प्रमुख जगहें

  1. वायनाड:

यदि आप वायनाड पहुंचना चाहते हैं तो यहाँ से 53 किलोमीटर दूर नीलांबूर रोड सबसे नजदीक रेलवे स्टेशन है और सबसे नजदीकी एयरपोर्ट कालीकट है। वायनाड का मौसम ठंडा एवं सुहावना है और यहां के झरने गुफाएं झील एवं बांध पर्यटकों का मन मोह लेते हैं। वायनाड में स्थित मुथंगा वन्य जीव अभ्यारण में हिरण, चीता, बिसोन और भालू जैसे कई पशु मौजूद हैं। वायनाड में चाय, काफी, इलायची और मसालों का भी भारी मात्रा में उत्पादन किया जाता है।

  1. वरकला:

यदि आप केरल जाकर समुद्र तट के किनारे आनंद उठाना चाहते हैं तो वरकला सबसे अच्छी जगह है। इसीलिए वरकला के समुद्र तट पर पर्यटकों की भारी भीड़ उमड़ती है। यदि आप वरकला पहुंचना चाहते हैं तो यहां से 40 किलोमीटर दूर त्रिवेंद्रम एयरपोर्ट है और आप अलेप्पी से बस के जरिए यहां पहुंच सकते हैं।

वरकला जगह वाटर स्पोर्ट्स के लिए भी काफी मशहूर है। यहां के समुद्र का पानी एकदम साफ है जिसको देखकर आपका मन प्रफुल्लित हो जाएगा। यहां पर आप सूर्यास्त के दृश्य को देखकर आपका मन गदगद हो जाएगा। इतना ही नहीं आप वरकला में सर्फिंग का भी आनन्द ले सकते हैं। वरकला केरल में पर्यटन के लिए सबसे अच्छी जगहों में से एक है।

यदि आप केरल भ्रमण पर हैं तो कोच्चि, कोवलम, त्रिवेंद्रम, कुमारकोम, कोल्लम, कोट्टायम, पलक्कड़, बेकल, देवीकुलम, सुल्तान बॉथरी इत्यादि जगहों पर घूमना ना भूलें। केरल राज्य में स्थित यह जगह आप के पर्यटन के अनुभव को काफी बेहतर बना सकती हैं। यदि आपने केरल के इन जगहों पर पर्यटन कर लिया तो आपका मन यहां पर बार-बार आने को करेगा। इसके अलावा आप केरल के प्रसिद्ध परंपरागत व्यंजनों का लुफ्त उठाना बिल्कुल ना भूलें।